48 वर्षों से हाथ को हवा में उठाये हुए है बाबा वजह जान कर चौक जायेंगे ... - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ज़रा हटके / 48 वर्षों से हाथ को हवा में उठाये हुए है बाबा वजह जान कर चौक जायेंगे …

48 वर्षों से हाथ को हवा में उठाये हुए है बाबा वजह जान कर चौक जायेंगे …

आप सभी तो जानते ही है कि 1 घंटा अगर हाथ ऊपर कर दिया तो हाथ में सुन्सुनाहट आ जाती है अचम्भे की बात यह की की एक बाबा जिन्होंने 48 वर्षों से अपना हाथ नीचे ही नहीं किया और हवा में ऊपर किये हुए है  आप दिन प्रति दिन  कई चमत्कारों के बारे में सुनते रहते होंगे  जिन्हें सुनकर हमारे कानों पर विश्वास नहीं होता। देश और विदेश में बहुत से ऐसे  लोग हैं जो अद्भुत प्रतिभाशाली हैं जिनके द्वारा किए जाने वाले करतब सामान्य व्यक्ति नहीं कर पाता। ऐसा ही एक सामान्य कर दिखाया है एक साधु ने। एक साधु है जिन्होंने पिछले 48 साल से अपना एक हाथ हवा में उठाए हुए हैं। दोस्तों इतने साल तक अपना एक हाथ हवा में उठा कर रख सकता है यह सोचने वाली बात है।

नीचे नहीं किया हाथ, दोस्तों अमर भारती नाम के एक साधु पिछले 48 वर्षों से अपना एक हाथ हवा में उठाए हुए हैं। अमर भारती के द्वारा किए जा रहे इस गौरव को देखकर लोग इसे चमत्कार मान लेते हैं। तो वहीं कुछ लोग अमर भारती का मजाक भी उड़ाते हैं और उन्हें अंधविश्वासी बताते हैं।लेकिन अमर भारती ने यह जो काम किया वह खुद की शांति और विश्व के कल्याण के लिए किया ऐसा अमर भारती ने खुद बताया था। आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 48 सालों में एक बार भी उन्होंने अपने हाथ को नीचे नहीं किया।

दोस्तों अमर भारती पहले से ही सन्यासी नहीं बनना चाहते थे। वह दुरुस्त रहती थी। उनके घर में उनकी पत्नी और बच्चे भी थे। आपको जानकर हैरानी होगी कि अमर भारती एक बैंक कर्मचारी थे। पढ़े लिखे होने के बावजूद भी संसार से जब उनका मन भर गया तो वह सन्यास के मार्ग पर चल पड़े। अमर भारती शांति की खोज में निकल पड़े और भोलेनाथ के भक्त बन गए जिसके बाद सन्यासी बन गए और ऐसा कुछ करने की ठान ली जिससे विश्व शांति का संकल्प साध्य हो सके।

कीया था संकल्प, बता दे कि अमर भारती ने जब शुरुआत में अपना हाथ ऊपर उठाया था तब वह नहीं जानते थे कि इतने लंबे समय तक वे अपना हाथ ऐसे ही बनाए रखेंगे या नहीं। लेकिन उनके मन में एक दृढ़ संकल्प था जो कि पूरे विश्व के कल्याण की कामना कर रहा था।उसी दृढ़ संकल्प और भोलेनाथ की भक्ति के रस में डूबे हुए अमर भारती साल 1973 से लेकर अब तक अपना एक हाथ हवा में ही खड़ा किए हुए हैं। हालांकि शुरुआत में उन्हें काफी तकलीफ हुई थी लेकिन धीरे-धीरे इसके आदि हो गए

About arun

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *