छोटी सी गलती से ब'र्बाद हो गया इन 6 फिल्मी सितारों का करियर - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / बॉलीवुड / छोटी सी गलती से ब’र्बाद हो गया इन 6 फिल्मी सितारों का करियर

छोटी सी गलती से ब’र्बाद हो गया इन 6 फिल्मी सितारों का करियर

जीवन में किस तरह इन्सान स्ट्रगल करके अपनी मंजिल तक पहुँचता है.ये तो वही इन्सान जनता है .लेकिन अपने मुकाम पर पहुँचने के बाद कोई न कोई ऐसी गलती कर देता है.जो उन्हें आसमान से जमीन पर ला कर रख देता है. ऐसा ही कुछ हमारे फ़िल्मी जगत के कुछ अभिनेताओ और अभिनेत्रियों ने किया है. फिल्मी दुनिया में कदम रखने वाले इन सितारों ममता कुलकर्णी से लेकर शाइनी अहूजा तक से सभी को बहुत आशाये थी लेकिन इन्होने अपनी एक गलती से सबका दिल तोड़ दिया.

शाइनी अहूजा

ऐक्टर शाइनी अहूजा जब फिल्मों में आए थे तो उनसे बहुत उम्मीदें थीं। वह उन उम्मीदों पर खरे भी उतरे। पहली ही फिल्म ‘हजारों ख्वाहिशें ऐसी’ के लिए शाइनी आहूजा ने फिल्मफेयर का बेस्ट मेल डेब्यू अवॉर्ड भी जीता। पहली सुपरहिट देने के बाद से ही हर निर्माता-निर्देशक की नजरें शाइनी आहूजा पर टिक गईं। फिर उन्होंने ‘गैंग्स्टर’, ‘वो लम्हे’ और ‘लाइफ इन ए मेट्रो’ जैसी हिट फिल्में दीं।

लेकिन एक घटना हुई और उसने रातोंरात ही शाइनी आहूजा के करियर को चौपट कर दिया। शाइनी आहूजा ने 2005 में फिल्मों में डेब्यू किया था और 2009 में उन्हें अपनी नौकरानी के रेप के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के 2 साल बाद यानी 2011 में शाइनी आहूजा को 7 साल जेल की कैद सुना दी गई। तब से शाइनी आहूजा फिल्मों के साथ-साथ शोबिज से भी दूर हो गए।

मंदाकिनी

ऐक्ट्रेस मंदाकिनी (Mandakini) को लोग आज भी ‘राम तेरी गंगा मैली’ फिल्म के लिए याद करते हैं। मंदाकिनी ने साल 1985 में ‘मेरा साथी’ से बॉलिवुड में डेब्यू किया था। लेकिन पहली फिल्म कुछ खास नहीं चली। तभी राज कपूर की नजर मंदाकिनी पर पड़ी और उन्होंने ऐक्ट्रेस को फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ में कास्ट किया। इस फिल्म से मंदाकिनी रातोंरात स्टार बन गईं। इसके बाद तो मंदाकिनी के पास फिल्मों की लाइन लग गई। उन्होंने कई और हिट फिल्में कीं।

पर मंदाकिनी के करियर और लाइफ में उस वक्त मुश्किलें आ गईं जब उनका नाम अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के साथ जुड़ा। ऐसी खबरें आने लगीं कि मंदाकिनी का दाऊद इब्राहिम के साथ अफेयर चल रहा है। तब साथ में उनकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई थीं। हालांकि मंदाकिनी ने दाऊद के साथ अफेयर का कुछ कनेक्शन होने से इनकार कर दिया। लेकिन बताया जाता है कि उसी कनेक्शन के कारण मंदाकिनी से फिल्ममेकर्स ने कन्नी काटनी शुरू कर दी। मंदाकिनी को मिलने वाले फिल्म ऑफर कम हो गए और एक वक्त ऐसा भी आया जब उनके पास फिल्में ही नहीं बचीं। तब मंदाकिनी ने 1996 में फिल्म इंडस्ट्री छोड़ दी। फिलहाल वह पति के साथ मिलकर योग सिखाती हैं।

फरदीन खान

ऐक्टर फरदीन खान (Fardeen Khan) से भी बहुत उम्मीदें थीं। स्टार पिता फिरोज खान (Feroz Khan) के बेटे फरदीन ने 1998 में फिल्म ‘प्रेम अगन’ से डेब्यू किया था। फिल्म हिट रही और इसके लिए फरदीन खान को फिल्मफेयर का बेस्ट डेब्यू अवॉर्ड भी दिया गया। आने वाले वक्त में फरदीन खान कई फिल्मों में नजर आए, लेकिन साल 2001 में जब फरदीन खान को कोकीन खरीदने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया तो सब बदल गया। पल भर में उनका स्टारडम फर्श पर आ गया।

बताया जाता है कि फरदीन खान ने उस वक्त फिल्म इंडस्ट्री में फिर से कदम जमाने की खूब कोशिश की, लेकिन बात नहीं बनी। तब फरदीन ने 2010 में ऐक्टिंग से ब्रेक ले लिया और फैमिली लाइफ में बिजी हो गए। तब से लेकर आज तक फरदीन खान फिल्मों से दूर हैं और ऐक्टिंग से भी।

मोनिका बेदी

कई हिंदी फिल्मों में नजर आईं ऐक्ट्रेस मोनिका बेदी का भी करियर अच्छा चल रहा था। वह हिंदी फिल्मों के अलावा साउथ सिनेमा में भी काम कर रही थीं। लेकिन अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम के साथ कनेक्शन और फिर गिरफ्तारी ने उनके करियर को ग्रहण लगा दिया। अबू सलेम के साथ मोनिका बेदी का नाम क्या जुड़ा, चंद पलों में ही उनका फिल्मी करियर गर्त में चला गया। अबू सलेम संग उनकी लव स्टोरी ने खूब सुर्खियां बटोरीं।

ममता कुलकर्णी

कुछ ऐसा ही हाल 90 के दशक की स्टार ऐक्ट्रेस रहीं ममता कुलकर्णी का भी हुआ। 90s में ममता कुलकर्णी की गिनती बॉलिवुड की टॉप ऐक्ट्रेसेस में होती थी। उन्होंने ‘करण अर्जुन’, ‘वक्त हमारा है’, ‘सबसे बड़ा खिलाड़ी’, ‘बाजी’ और ‘चाइना गेट’ जैसी कई बेहतरीन फिल्में दीं। लेकिन जिंदगी में की गई एक गलती ममता कुलकर्णी का करियर ले डूबी। ममता कुलकर्णी का नाम गैंग्स्टर छोटा राजन के साथ जोड़ा जाने लगा। इसके बाद साल 2016 में करोड़ों की इफ्रेडिन ड्रग स्मगलिंग मामले में भी ममता कुलकर्णी और इंटरनैशनल ड्रग स्मगलर श्याम विजय गिरी उर्फ विकी गोस्वामी का नाम आया था।

मनीषा कोइराला

सुभाष घई की फिल्म ‘सौदागर’ से रातोंरात स्टार बनीं मनीषा कोइराला करियर में अच्छा कर रही थीं। अच्छी फिल्मों के ऑफर मिल रहे थे और फिल्में हिट भी रही थीं। लेकिन कुछ साल बाद मनीषा की जिंदगी में एक ऐसा भी मौका आया जब उन्होंने शराब को गले लगा लिया और वही चीज उनके करियर को ले डूबी।

बताया जाता है कि 1999 में फिल्म ‘लावारिस’ के दौरान मनीषा कोइराला ने अपने बिजी शेड्यूल और स्ट्रेस को दूर करने के लिए शराब का सहारा लेना शुरू कर दिया। वह बात-बात पर गुस्सा करने लगीं और उनका बर्ताव भी बदल गया। इसके बाद उन्हें कम फिल्में मिलने लगीं। ये ऑफर तब और घट गए जब मनीषा कोइराला 2012 में ओवेरियन कैंसर की गिरफ्त में आईं। मनीषा कोइराला ने कैंसर से ठीक होने के बाद फिल्मों में वापसी तो की, पर वैसा चार्म और सक्सेस हासिल नहीं कर पाईं जो करियर की शुरुआत में की थी।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *