500 का छुट्टा कराने के लिए मजदूर खरीदी लॉटरी टिकट, एक रात में जीत लिए 12 करोड़ रूपये - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / वायरल / 500 का छुट्टा कराने के लिए मजदूर खरीदी लॉटरी टिकट, एक रात में जीत लिए 12 करोड़ रूपये

500 का छुट्टा कराने के लिए मजदूर खरीदी लॉटरी टिकट, एक रात में जीत लिए 12 करोड़ रूपये

मित्रों इस बात में तो कोई दो राय नही है कि इस दुनिया में कब किसकी किस्‍मत चमकने वाली है, यह किसी को नही पता होता है, आज हम एक ऐसे ही शख्स के संबंध में बताने वाले है जो रातो रात करोड़पति बन गया। दरअसल आप लोगों ने कई बार राजा से रंक और फकीर से रईस बनने की कई कहानियां सुनी होंगी। कुछ ऐसा ही मामला आज भी सुनने में आ रहा है जिसके अनुसार एक शख्स 500 का छुट्टा कराने के लिये खरीदी एक लॉटरी की टिकट, और फिर उस शख्स की खुली ऐसी किस्मत की उस लॉटरी टिकट से मिले उसे 12 करोड़ रूपये। खबर विस्तार से जानने के लिये इस पोस्ट के अंत तक बने रहे।

आपको बता दें कि आज हम आपको एक ऐसे ही गरीब मज़दूर के बारे में बताने जा रहे है जो पेशे से एक पेंटर है, ये शख्स अपनी रोजमर्रा की जिंदगी गुज़ारने के लिए सुबह काम पर जाता था ओर रात को थका हारा घर आता था लेकिन लोग बताते है कि वो बहुत इमानदार सज़्ज़न आदमी है। इनका नाम सदानंदन जी है। जिनकी उम्र 77 साल है और अपनी जिंदगी को किसी तरह चला रहे थे। जो केरल के कोटय्याम में रहते है। असल मे एक दिन रविवार को वो घर का सामान लेने के लिए बाजार गए बाजार में उन्हें छुट्टे पैसो की जरूरत पड़ी। वो एक दुकान पर जब पैसे छुट्टे करने के लिए एक लॉटरी टिकट ले लिया वो अक्सर कई सालों से लॉटरी टिकट खरीदते थे लेकिन हमेशा मायूस ही रहते थे लेकिन अनजाने में उन्होंने जो टिकट लिया उस टिकट में उन्हें 12 करोड़ की लॉटरी लगा दी इस लॉटरी टिकट का नंबर XG21858 था जो कि राज्य सरकार के द्वारा न्यू ईयर ओर मेरी क्रिसमस के उपलक्ष्य में निकली गयी थी।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि इस लॉटरी के 47 लाख टिकट बिके उस लॉटरी के एक टिकट की कीमत 300 रुपए थी। बताया जा रहा है सदनंदन को लॉटरी के पूरे 12 करोड़ नही बल्कि 7,39 करोड़ रुपए मिलेंगे और पैसे उन्हें राज्य सरकार द्वारा महज 7,39 करोड़ रुपए ही दिए जाएंगे। दरअसल सरकारी नियमों के अनुसार लॉटरी में जीती गई रकम पर टैक्स लगाया जाता है, जबकि लॉटरी बेचने वाले एजेंट को भी जीती हुए रकम का कुछ हिस्सा दिया जाता है। जबसे सदानंदन की लॉटरी खुली है वो फुले नही समा रहे है। वो अब अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाएंगे। सदानंदन कहते है कि उनकी किस्मत का तारा कुछ इस तरह चमकेगा मुझे पता नहीं था में तो एक मज़दूर आदमी हु जो रोज मज़दूरी करने के लिए सुबह घर से निकलता ओर शाम को घर मे आता लेकिन अब मेरी किस्मत बदल चुकी है ऊपर वाले कि माया कोई नही जानता। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published.