नौकरी के लिए 150 से ज्यादा कंपनी में धक्के खाए,अख़बार तक बेचे, आज मल्टीनेशनल कंपनी के है मालिक - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ज़रा हटके / नौकरी के लिए 150 से ज्यादा कंपनी में धक्के खाए,अख़बार तक बेचे, आज मल्टीनेशनल कंपनी के है मालिक

नौकरी के लिए 150 से ज्यादा कंपनी में धक्के खाए,अख़बार तक बेचे, आज मल्टीनेशनल कंपनी के है मालिक

अपने देश से निकल कर दुसरे देश में जाकर रहना आसन नही है .तो काम करना कितना मुश्किल होगा .ऐसे में दुसरे देश में कोई कंपनी खड़ी करने के बारे में तो कोई सोच भी नही सकता .लेकिन एक ऐसा शख्स है जिसने यह कर दिखाया है .यूपी के अलीगढ़ में रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने देश से निकल कर ऑस्ट्रेलिया में एक मल्टीनेशनल कंपनी खड़ी कर दी है . उस व्यक्ति ने बड़े संघर्षो के बाद ये मुकाम हासिल किया है .एक समय ऐसा भी था जब 4 महीने में 170 जगह जॉब के लिए आवेदन देने पर भी उन्हेंकोई जॉब नही मिली .लेकिन उन्होंने जो बिना किसी शरम के अखबार बेचा ,एयरपोर्ट में सफाई का काम किया .लेकिन अपना मनोबल कम नही होने दिया .आज वाही व्यक्ति मल्टीनेशनल डिजिटल सॉल्यूशन कंपनी के मालिक हैं.

उस शख्स का नाम है *आमिर कुतुब* मध्य परिवार से बिलॉन्ग करते हैं । उन्होंने अपने 12वीं की पढ़ाई पूरी करके *अलीगढ़ के मुस्लिम यूनिवर्सिटी* में मैकेनिकल इंजीनियरिंग के लिएे दाखिला करवाया। हालांकि ,उनका इंजीनियरिंग की पढ़ाई में बिल्कुल भी ध्यान नहीं था ना उनका मन लगता था । तो उन्होंने साल 2011 में छात्र संघ का चुनाव लड़ा और वह सचिव निर्वाचित हुए।

जब उनकी पढ़ाई पूरी हो गई तब उन्होंने दिल्ली मैं *होंडा कंपनी* में काम किया|वहां पर भी उनका मन नहीं लग रहा था, तब उन्होंने स्टूडेंट वीजा अप्लाई किया और वह ऑस्ट्रेलिया गए । उन्होंने 4 महीने के भीतर ही 170 कंपनी में अप्लाई किया पर उन्हें कहीं कुछ भी सफलता नहीं मिली । उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था, तो वह एयरपोर्ट में क्लीनिंग स्टाफ के लिए काम करने लगे| उनका खर्चा नहीं चल रहा था, तो उन्होंने खर्चे चलाने के लिए अखबार भी बांटा ।

इन सबके बाद ,*आमिर कुटुब* ने डिजिटल सॉल्यूशन की कंपनी खोली और यह कंपनी बहुत अच्छी चली| आज यह कंपनी 7 देशों में अपनी सेवाएं दे रही है । आमिर को ऑस्ट्रेलिया के *यंग बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर* से सम्मानित किया गया ।और तो और, ऑस्ट्रेलिया के *मेंबर ऑफ गिलोंज और अथॉरिटी* ने सलाहकार सदस्य के रूप में योजना मंत्रालय ने इन्हें शामिल किया ।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *