मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने वाले लड़के ने खड़ी कर दी 250 करोड़ रुपए की खुद की कंपनी - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / विशेष / मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने वाले लड़के ने खड़ी कर दी 250 करोड़ रुपए की खुद की कंपनी

मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने वाले लड़के ने खड़ी कर दी 250 करोड़ रुपए की खुद की कंपनी

मित्रो इस दुनिया में नाम कमाना इतना आसान काम नही है, कभी कभी तो कुछ लोग इसके लिये बहुत प्रयास करते है, उसके पश्‍चात भी सफलता हाथ नही लगती है। यहाँ मेहनत के साथ किस्मत का भी बड़ा रोल होता हैं। हम लोगों के जीवन में कब क्‍या होने वाला है, और कब क्‍या बदलाव आने वाले है वह किसी को ज्ञात नही हो पाता है, आपने कई ऐसी बाते आस पास देखी या फिर सुनी होगी कि उसके जीवन में अचानक कुछ ऐसा बदलाव आया जिससे उसकी कायाकल्‍प हो गई। इसी क्रम में आज हम एक ऐसे शख्स के संबंध में बताने वाले है जो मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने का काम करता था, पर आज अपनी मेहनत के बलबूते खड़ी कर दी 250 करोड़ रूपये की कंपनी। आइए जाने इस शख्स के संघर्ष भरे जीवन के संबंध में जो हम लोगों के लिये प्रेरणा दायक है।

दरअसल आज हम जिस सख्श की बात कर रहे है उनका नाम तुषार जैन है, जो कि मुंबई की सड़को पर बैग बेचने का काम करते थें, पर अब तुषार जैन हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी के सह-संस्थापक और एमडी हैं, सफलता की ओर बढ़ते हुए तुषार ने बहुत सी कठिनाइयों का सामना किया पर उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी, यही वजह है कि आज वह 250 की कंपनी के मालिक और हजारों लोगों को रोजगार देने वाले के रूप में जाने जाते हैं, साल 1992 में बहुत से लोगों ने स्टॉकब्रोकर हर्षद मेहता घोटाले में अपने पैसे गंवा दिए, इनमें एक नाम झारखंड के एक बिजनेसमैन मूलचंद जैन का भी था जिन्होंने इस घोटाले में अपना पैसा खोया, योरस्टोरी के अनुसार अपना पैसा गँवाने के बाद मूलचंद अपने बेटे तुषार जैन के साथ मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने पर मजबूर हो गए। हालाकि तुषार जैन सच्ची लगन और पूरी मेहनत के साथ आगे बढ़ते रहे, बहुत संघर्ष करने के बाद तुषार 2012 में हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड नाम से अपनी खुद की कंपनी खोलने में कामयाब रहे।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि सन 2014 में तुषार की कंपनी एक दिन में 10,000 से 20,000 बैग तैयार करती थी, कंपनी का टर्नओवर तब 90 करोड़ रुपये थे, मात्र 3 साल में इनकी कंपनी का टर्नओवर दुगने से ज़्यादा हो गया, 2017 में कंपनी ने 250 का आंकड़ा छू लिया और प्रतिदिन बैग बनाने की क्षमता 30,000 से 35,000 तक हो गई, 1999 में तुषार जैन ने 300 रिटेलर्स के साथ एक बिजनेस शुरू किया था। 2002 में वह अपने बिजनेस को पूरे देश में फैलाने की सोच लेकर मुंबई आ गए, 2006 में तुषार ने प्रियोरिटी नाम से अपना पहला ब्रांड शुरू किया, 2007 तक उन्हें इंडियन मार्केट में पैर जमाने की जगह मिल गई, इन दिनों तुषार की कंपनी एक दिन में 3 से 4 सौ तक बैग तैयार करती थी, लगातार मिल रही सफलताओं के बाद तुषार ने 2017 में ट्रावर्ल्ड और हैशटैग लॉन्च किया। तुषार ने अपने ब्रांड ट्राबैग के ब्रांडएम्बेसडर के रूप में बॉलीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर को साइन किया, तुषार कपूर ने अपने एक इंटरव्यू में बताया कि उनका सपना है उनकी कंपनी अगले 5 सालों में 1000 करोड़ का टर्नओवर कमाए, इस सपनों को साकार करने के लिए तुषार बिहार के पटना में नया प्लांट लगा रहे हैं, जहां वह सालाना 25 लाख बैग तैयार करेंगे। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *