फ़िल्म हिट होते ही होने लगा कश्मीरी पंडितों के हत्यारों का हिसाब,यासीन मलिक और बिट्टा कराटे पर टूटा कहर - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ताज़ा खबरें / फ़िल्म हिट होते ही होने लगा कश्मीरी पंडितों के हत्यारों का हिसाब,यासीन मलिक और बिट्टा कराटे पर टूटा कहर

फ़िल्म हिट होते ही होने लगा कश्मीरी पंडितों के हत्यारों का हिसाब,यासीन मलिक और बिट्टा कराटे पर टूटा कहर

दोस्तों कश्मीरी पंडितो के नरसंहार और पलायन पर आधारित फिल्म  द कश्मीरी फाइल्स ने दुनिया भर में तहलका मचा दिया .इस फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे यासीन मलिक और बिट्टा ने कश्मीरी पंडितो पर अत्याचार किये और उन मासूमो की जाने ली और इस बात  को भी खुद कबूल किया है कि उनकी ह-त्या का जिम्मेदार वो है . अभी -अभी यासीन मलिक और बिट्टा कराटे को लेकर अहम खबर सामने आई है कि फिल्म के सुपर डुपर हिट होते ही हो रहा है कश्मीरी पंडितों के हत्यारों का हिसाब. यासीन मलिक और बिट्टा कराटे के ऊपर मंडरा रह है संकट की बादल .क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े  .फ़िल्म रिलीज होते ही कश्मीरी पंडितों को तड़पाने वाले यासीन मलिक पर टूटा कहर,आरोप हुआ तय

1990 के दशक में कश्मीर घाटी में पंडितों की हत्या करने में आगे रहे आतंकी यासीन मलिक और फारूख अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे जैसे आतंकियों का हिसाब अब हो रहा है और दोनों का खेल जल्द खत्म होने की उम्मीद है। दोनों के बारे में हाल में रिलीज हुई फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ में दिखाया गया है कि कैसे बिट्टा और यासीन ने कश्मीरी पंडितों और एयरफोर्स के अफसरों की हत्या की थी। बिट्टा का वो बहुचर्चित इंटरव्यू भी फिल्म में दिखाया गया है कि वो खुद 20-25 लोगों की हत्या की बात मान रहा है। बहरहाल, बिट्टा और यासीन मलिक पर नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी NIA की विशेष अदालत ने टेरर फंडिंग के मामले में UAPA कानून के तहत चल रहे मामले में दाखिल चार्जशीट को मंजूरी दे दी है।

कोर्ट ने यासीन और बिट्टा के अलावा एनआईए की चार्जशीट में दर्ज नाम शब्बीर शाह, पूर्व विधायक इंजीनियर राशिद, अलताफ फंटूश, मसर्रत हुसैन वगैरा पर भी आरोप तय किए हैं। कोर्ट के जज प्रवीण सिंह ने कहा है कि उन्हें हैरानी है कि साजिश में राजनयिक मिशन का भी इस्तेमाल किया गया। कोर्ट ने ये भी कहा कि पहली नजर में सभी आरोपियों को टेरर फंडिंग की गई और ये गांधी का रास्ता नहीं था। कोर्ट ने एनआईए की चार्जशीट को तय करते हुए कहा कि हुर्रियत के लिए आरोपी पीर सैफुल्लाह को पथराव कराने के लिए पैसा मिलने की बात है और ये आतंक के दायरे में आता है।शारदा पंडित को सबके सामने निर्वस्‍त्र करने वाले सीन पर हो गयी थी शर्मिंदा,सीन के बाद खूब रोई थी एक्ट्रेस

एनआईए ने कहा है कि टेरर फंडिंग के लिए पैसा पाकिस्तान और उसकी एजेंसियों से आता था। काफी रकम अंतरराष्ट्रीय आतंकी और लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद की तरफ से भी आया था। जांच एजेंसी ने कहा है कि आरोपी जहूर अहमद शाह इस फंडिंग का मुख्य सूत्रधार है और नवल किशोर कपूर नाम के आरोपी ने उसका साथ दिया। कोर्ट ने ये भी कहा कि साफ हो रहा है कि बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के लिए एक आपराधिक षड्यंत्र रचा गया। इसके बाद हिंसा और बड़े पैमाने पर आगजनी हुई। एनआईए की चार्जशीट के मुताबिक जेकेएलएफ चीफ यासीन मलिक ने फंड हासिल करने का तरीका निकाला था। इस चार्जशीट में लश्कर के चीफ हाफिज सईद, हिजबुल मुजाहिदीन चीफ सैयद सलाहुद्दीन का भी नाम है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.