65 फीट गहरे गड्ढे में गिरा हुआ बच्चा 104 घंटे तक सांप और मेंढको के बीच रहा भूखा प्यासा - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / वायरल / 65 फीट गहरे गड्ढे में गिरा हुआ बच्चा 104 घंटे तक सांप और मेंढको के बीच रहा भूखा प्यासा

65 फीट गहरे गड्ढे में गिरा हुआ बच्चा 104 घंटे तक सांप और मेंढको के बीच रहा भूखा प्यासा

मित्रों वैसे तो इस दुनिया में ऐसी कई अजीबो गरीब घटनायें होती रहती है, जिन्हें सुनने के पश्‍चात जल्‍द यकीं नही हो पाता है, कि आखिर यह भी हो सकता है। वहीं ऐसी अजीबो गरीब घटनाओ के चलते हम लोगों को कई दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है। इसी क्रम में आज हम एक ऐसी ही घटना के संबंध में बात करने वाले है, जो कि आप सुनेगें तो आप को भी बहुत बड़ा झटका लगना तय है, क्योंकि बोरवेल में 65 फीट गहरे गड्ढे में एक बच्चा 104 घंटे तक सांप और मेंढक के बीच रहा। हालाकि धूप अंधेरा और सांस की आस में इस बच्चे की हिम्मत और जज्बे को सलाम,,, जिसने अपनी जीवटता और हिम्मत से मौत को मात देकर सुरक्षित लौट आया। सोचने वाली बात तो ये है कि 5 दिनों तक एक मूकबधिर बच्चा कैसे 104 घंटों तक बोरवेल में रहा होगा?

दरअसल एक कैमरे में राहुल के मूवमेंट को देखकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ। बोरवेल के गड्ढे में सिर्फ मासूम बच्चा ही नहीं था, बल्कि वहां 3 जिंदगियां थी। वह 5 दिनों तक उनके बीच रहा, क्योंकि जिस गड्ढे में राहुल गिरा था, उसमें एक मेंढ़क और एक सांप भी था। 104 घंटे तक राहुल बोरवेल के गड्ढे में संघर्ष करता रहा। उसे इस बात की जानकारी भी नहीं थी कि जहां वह गिरा है उसमें एक सांप और मेंढक भी है। कैमरे में सांप और मेंढक का मूवमेंट कैद हो गया। कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला को इस बात की जानकारी भी हो गई, लेकिन उन्होंने इसका जिक्र किसी से नहीं किया। जब उसे इस बात की जानकारी हुई तब वह खुद सिहर गए। दो दिनों तक राहुल ने जूस और फल खाया और उसका मूवमेंट दिखता रहा, जिससे सुकून मिलता रहा, लेकिन तीसरे दिन से राहुल ने सिर्फ एक बार सुबह फ्रूटी व फल खाया था, उसके बाद उसने कुछ नहीं खाया। रेस्क्यू ऑपरेशन का वक्त बढ़ता गया और राहुल का शरीर जवाब देने लगा। इसे लेकर कलेक्टर खुद चिंतित हो गए। उसे डर सता रहा था कि कहीं सांप ने राहुल को नुकसान तो नहीं पहुंचाया होगा। इस बात की आशंका से वे परेशान थे, लेकिन इस बात को दबाए रखा। यह बात सामने आने से परिवार के लोग चिंतित हो जाते, लेकिन देशभर के लोगों की दुआएं काम आई। ऐसा लगता है कि सांप ने राहुल की बेबसी को समझ लिया। इसलिए उसने नुकसान पहुंचाने के बजाय दोस्ती निभाई। इधर मेंढक भी मासूम को संबल देता रहा होगा कि राहुल तुम अकेले नहीं हो,,, मैं भी आपके साथ हूं।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने मीडिया से कहा कि यह ऑपरेशन काफी चुनौतीपूर्ण था। एक राज मैंने भी छिपाया, लेकिन राहुल सुरक्षित निकल आया। अब बोलने में कोई गुरेज नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं सोचता तो खुद से डर लगता था कि कैसे यह बच्चा अंधेरे और गहराई में इतने वक्त तक रहेगा। आज मैं एक बात बता रहा हूं, जहां पर राहुल था, वहां उसके साथ एक सांप और मेंढक भी थे। एक बच्चा 5 दिनों तक सांप और मेंढक के साथ कैसे रहा होगा। बच्चे ने असाधारण साहस दिखाया, उसका हौसला एक मिसाल है।  कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा होने के बाद सीएम भूपेश बघेल से रात में वीडियो कॉल से बात की। पूरी घटना बताई। सीएम को यह भी बताया कि राहुल के साथ गड्ढे में साप व मेंढक भी था। यह बात सुनकर सीएम भी हैरान रह गए। उन्होंने कहा बहुत बहादुर है बच्चा। कलेक्टर ने बताया कि राहुल पूरी तरह स्वस्थ है, उसे ग्रीन कॉरीडोर बनाकर बिलासपुर अपोलो अस्पताल ले रहे हैं। रेस्क्यू सही से चला और और हमें सफलता मिली। सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट किया और लिखा हमारा बच्चा बहुत बहादुर है। उसके साथ गड्ढे में 104 घंटे तक एक सांप और मेढक उसके साथी थे। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published.