कभी ऐसे दीखते थे 20 और 50 के नोट, जानिए भारतीय करेंसी का शुरू से लेकर आज तक का इतिहास… - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / वायरल / कभी ऐसे दीखते थे 20 और 50 के नोट, जानिए भारतीय करेंसी का शुरू से लेकर आज तक का इतिहास…

कभी ऐसे दीखते थे 20 और 50 के नोट, जानिए भारतीय करेंसी का शुरू से लेकर आज तक का इतिहास…

मित्रों वैसे तो आप लोग इस बात से अवगत ही होगें कि मौजूदा सरकार ने पुरानी नोटों को बैन कर नई नोटों में सबसे बड़ी नोट 2000 को चलन में ला चुकी है, पर इस बात से तो आप लोग भी अनजान होगें कि सन् 1954 से 1978 के मध्य 5000 के नोटों का प्रचलन भारत में रहा था। हालाकि 1946 से पहले ब्रिटेन में 5000 की नोटों को छापा जाता था जिसे बाद बैन कर दिया गया था। वहीं अगर इन नोटों के इतिहास पर नजर डाले तो भारतीय नोटों का इतिहास बड़ा अजीब रहा है। इसी क्रम में भारतीय नोटों के इतिहास के बारे में कुछ दिलचस्प बातों से आप लोगों को अवगत कराने वाले है, जिनके संबध में शायद ही आप लोगों को पता होगा। तो आइये जानते भारतीय नोटों के इतिहास के संबंध में जो कुछ इस प्रकार से है……

1, आपने देखा होगा की पांच हजार और दस हजार के नोट 1954 से लेकर 1978 तक चलन में थे और फिर कुछ समय बाद वह बंद हो गए।

2, वही आजादी के बाद पाकिस्तान हमारे भारतीय नोटों को अपने देश का स्टांप लगाकर उनका उपयोग करता था, वहां अधिक नोटों के प्रिंट होने के बाद यह उपयोग बंद हो गया।

3, हिंदी और अंग्रेजी भाषा के अलावा नोटों पर कुल 15 भाषाओं का इस्तेमाल होता है,आपने देखा होगा की 10,20 और 50 रुपये के नोटों के साथ दूसरे अन्य नोटों पर कश्मीरी, मलयालम, मराठी, उड़िया, नेपाली, पंजाबी, संस्कृत, तेलुगु, उर्दू, तमिल, कन्नड़, असमी, कोंकणी, मराठी, गुजराती और बंगाली भाषा का प्रयोग होता है।

4, वही बांग्लादेश में ब्लेड बनाने के लिए 5 रुपये के सिक्कों की तस्करी की जाती थी, और वह 5 रुपये के सिक्के से 6 ब्लेड बनाए जाते थे और उन 5 रुपये के सिक्को से जितनी ब्लेड बनती थी उन ब्लेडो में प्रत्येक ब्लेड की कीमत 2 रुपये थी, इस बात की जानकारी होने पर भारत सरकार ने सिक्का बनाने में इस्तेमाल होने वाले मेटल को ही बदल दिया।

5, वही अगर नेपाल में आप 500 और 1000 के नोटों के साथ पकड़े जाते है तो आपको इसकी सजा भी मिल सकती है, दरअसल नकली नोट की बढ़ती घटनाओं के कारण वही नेपाल ने भारतीय 500 और 1000 के नोटों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।

6, यह बात आप लोग जानते ही होंगे कि भारतीय नोटों को जारी करने का अधिकार केवल रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास है, लेकिन, और जो एक रुपये का नोट होता है उसे वित्त मंत्रालय जारी करता है, इस नोट पर RBI के गवर्नर की जगह फाइनांस सेक्रेटरी का सिग्नेचर होता है।

7, अगर आप ‘की-बोर्ड’ की सहायता से रुपये का साइन (₹) लिखना चाहते हैं तो आपको ‘Ctrl+Shift+$’ के बटन को एक साथ दबाना होगा।

8, और वही दस रुपये को ढालने का जो खर्चा लगता है वह 6,10 रुपया है।

9, वही अगर आप किसी सिक्के को ध्यान से देखें तो पाएंगे कि उसके जारी होने के साल के नीचे एक निशान बना होता है, आप उस निशान की मदद से यह जान सकते हैं कि यह सिक्का कहां ढला हुआ है, अगर सिक्के के साल के नीचे डायमंड का निशान बना हुआ है तो यह सिक्का हैदराबाद में ढला है, अगर वही सिक्के में डॉट का निशान बना हुआ है तो वह नोएडा में ढला है, वहीं, इसके अलावा अन्य स्थानों जैसे मुंबई और कोलकाता में भी सिक्के ढाले जाते हैं।

10, आपने देखा होगा की हर भारतीय नोट पर एक अलग तरह की तस्वीर बनी होती है, ये तस्वीर जानवर, प्रकृति, इंसान और आजादी के आंदोलन से जुड़ी होती है, जो 10 रुपये के नोट होते है उन पर हाथी, गैंडा और शेर छपा होता है, वहीं, 20 रुपये के नोटों पर अंडमान द्वीप की तस्वीर बनी होती है, और जो 100 रुपये के नोट होते है उन पर बादल और पहाड़ जबकि 500 रुपये के नोटों पर आजादी के आंदोलन से जुड़ी कुछ तस्वीरे बनी होती है।

उपरोक्त जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्ट न्यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published.