10 करोड़ जीतने के बाद भी बिहार के इस लड़के ने नही लिया एक भी पैसा, कारण जानोगे तो - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ज़रा हटके / 10 करोड़ जीतने के बाद भी बिहार के इस लड़के ने नही लिया एक भी पैसा, कारण जानोगे तो

10 करोड़ जीतने के बाद भी बिहार के इस लड़के ने नही लिया एक भी पैसा, कारण जानोगे तो

दोस्तों आज के समय में जितना  भी पैसा हो कम ही लगता है इसलिए हर कोई करोडपति बनने का सपना देखता है लेकिन हर कोई जल्दी से अमीर बनकर एशो आराम की जिन्दगी बिताना चाहता है क्योकि मेहनत करके अमीर बनने में तो सालो लग जाते है .ऐसे में  बहुत से लोगो का एक खेल के माध्यम से कम समय में करोडपति बनने का सपना पूरा हुआ है और करोडपति बनने के बाद वो अपनी ख़ुशी ब्यान नही कर पा रहे थे .उन्हें तो यकीं नही हो पा रहा था ये उनके साथ सच में हो रहा है या ये कोई सपना है .लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे बताने वाले है जिसने करोड़ो रूपये जीतने के बाद भी एक रुपया भी नही लिया अब ऐसा भी नही है कि उसे पैसे की जरूरत नही है पर उस ने ऐसा क्यों किया जानने के लिए खबर को अंत तक जरुर पढ़े .

बिहार के मधुबनी थाना क्षेत्र के छौरही गांव निवासी 30 वर्षीय मो जियाउद्दीन ड्रीम इलेवन से करोड़ पति बने, लेकिन कुछ घंटों में ही साइबर अपराधियों ने उनके वॉल्वेट से सारे पैसे निकाल लिये।वह चेन्नई की एक कंपनी में मजदूरी करते हैं. जानकारी के अनुसार बीते 28 अप्रैल को मो जियाउद्दीन ड्रीम इलेवन में टी 20 टूर्नामेंट खेल रहे थे।इस मैच में उस दिन 30 लाख 76 हजार 923 लोगों ने हिस्सा लिया था। खेल के छठे प्रयास में यह करोड़पति बन गये। मो जियाउद्दीन बताते हैं कि प्रथम विनर बनते उनको एक करोड़ 139 रुपये का इनाम मिला। टैक्स काटकर उनके वॉलेट अकाउंट में 70 लाख 167 रुपये 50 पैसे आ गये।

अंजान नंबर से आया था फोन

इसके बाद एक मई को एक अनजान नंबर 9673485*** से ओटीपी देने के लिए काल आया। नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गयी। इसके बाद जियाउद्दीन ने ओटीपी दे दिए।इसके बाद मोबाइल नम्बर 8260881*** से भी कई बार फोन आने पर उस नंबर को जियाउद्दीन ब्लैक लिस्टेड कर दिया। जियाउद्दीन बताते हैं कि इनके बैंक अकाउंट में केवाईसी नहीं होने के कारण वॉलेट से पैसा ट्रांसफर नहीं हो सका था।

नया बैंक अकाउंट खोलने की बना रहे थे योजना

नया बैंक अकाउंट खोलने की योजना बना रहे थे। इस दौरान उनका मोबाइल बंद हो गया। जब उन्होंने मोबाइल ऑन किया तो उसमें कोई डेटा नहीं था। जीमेल आईडी मांगा। जीमेल आईडी डालते ही पासवर्ड गलत बता दिया।फिर दूसरा जीमेल बनाकर मोबाइल खोला तो उसमें पुराना कोई डेटा नहीं मिला। 2 मई को जब इनका मोबाइल ऑन हुआ तो इनके खाते से तीन किस्तों में कुल 61 लाख 90 हजार रुपये की निकासी साइबर अपराधियों ने कर ली थी।

ओटीपी मांग निकाल लिये वॉलेट से पैसे

बाबूबरही के जियाउद्दीन के वॉलेट में 30 अप्रैल को आये एक करोड़ रुपये, एक मई को साइबर अपराधियों के ओटीपी मांगने के बाद बंद हो गया मोबाइल, दो ऑन करने वॉलेट खाली मिला।

पत्नी ने भेजे पैसे तो घर पहुंचे

मो जियाउद्दीन ने बताया कि पैसा जितने की खबर परिवार को दी। पत्नी रजीदा खातून ने गांव में 15 हजार रुपये की व्यवस्था कर पति को गांव आने के लिए भेजा। 30 अप्रैल को वह चेन्नई से कोलकाता होते हुए दरभंगा , फिर अपने घर पहुंचे।

2 धूर जमीन में बना है घर

मो जियाउद्दीन का परिवार दो धुर जमीन में एक छोटा सा घर बना कर रहता है। यह खुद चेन्नई के एक कंपनी में लेदर का बैग बनाने का काम करते हैं। इनकी पत्नी घर पर बकरी पालती हैं। इस घटना को लेकर जियाउद्दीन ने मधुबनी एसपी को आवेदन सौंपा है।

 

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.