सलमान के कारण इंडस्ट्री से बाहर हो गए राजा बाबू "गोविंदा - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / बॉलीवुड / सलमान के कारण इंडस्ट्री से बाहर हो गए राजा बाबू “गोविंदा

सलमान के कारण इंडस्ट्री से बाहर हो गए राजा बाबू “गोविंदा

बॉलीवुड में चीची के नाम से जाने जाने वाले अभिनेता गोविंदा दुनिया भर में फेमस है .गोविंदा ऐसे अभिनेता है जिन्होंने अपने फ़िल्मी करियर में हर तरह के किरदार बखूबी निभाए है . गोविंदा जितने कमाल का डांस करते है उतनी ही शानदार कॉमेडी और दमदार एक्शन भी . गोविंदा के लगातार लम्बे लम्बे डायलोग बोलने की टाइमिंग को कोई बीट नही कर सकता . गोविंदा के कमाल के डांस और एक्सप्रेशन की दुनिया आज भी दीवानी है .ऐसा कोई नही है जो डांस के साथ उन्ही की तरह एक्सप्रेशन दे पाए .

एक समय पर गोविंदा एक्टिंग की दुनिया में राज किया करते थे और उन्होंने एक समय पर करीब 70 से ज्यादा फिल्में साइन की थी। गोविंदा ने अपने करियर में करिश्मा कपूर से लेकर माधुरी दीक्षित, रवीना टंडन, रानी मुखर्जी जैसी बड़ी अभिनेत्रियों के साथ काम किया और उनकी जोड़ी हर किसी के साथ हिट रही।इतना ही नहीं बल्कि गोविंदा बॉलीवुड के वह अभिनेता हैं जिन्होंने अपने करियर में सबसे ज्यादा सुपरहिट फिल्में दी है। लेकिन आज गोविंदा के पास काम नहीं है। वह पिछले 3 से 4 सालों में एक से दो ही फिल्म में नजर आए हैं वो भी बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप साबित हुई। गोविंदा का कैरियर बर्बाद होने के कारण उनकी कुछ अनदेखी गलतियां बताई जाती है जिन पर उन्होंने कभी गौर नहीं किया और इसी कारण गोविंदा करियर धीरे-धीरे बर्बादी की ओर बढ़ता गया। आइए जानते क्या है गोविंदा की वो गलतियां?

स्टारडम का घमंड

कहा जाता है कि जब गोविंदा ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में बड़ा स्टारडम हासिल कर लिया तो घमंड उनके सिर चढ़ गया था। शूटिंग के दौरान गोविंदा कभी समय से सेट पर नहीं पहुंचते थे। इतना ही नहीं बल्कि वह हर सुपरस्टार के आगे अपना स्टारडम दिखाते थे जिसके चलते उनका करियर ढलान की ओर आ गया। ये भी कहा जाता है कि, गोविंदा अक्सर फिल्म की कहानी के अनुसार नहीं बल्कि अपने अनुसार किरदार की डिमांड करते थे।कहा जाता है कि सलमान खान और गोविंदा एक समय पर काफी अच्छे दोस्त हुआ करते थे। गोविंदा कई मौके पर सलमान खान की तारीफ भी कर चुके हैं लेकिन जब गोविंदा की बेटी टीना आहूजा को बॉलीवुड में लॉन्च करने में सलमान ने मदद नहीं की तो दोनों के बीच मनमुटाव हो गया।

डेविड धवन से दुश्मनी

बता दें, डेविड धवन और गोविंदा की जोड़ी 90 के दौर में मशहूर थी। गोविंदा ने डेविड धवन के साथ करीब 17 फिल्मों में काम किया है और उनकी ज्यादातर फिल्में बॉक्स आफिस पर सफल साबित हुई। दोनों की दोस्ती भी काफी गहरी थी लेकिन फिर इनके बीच अनबन शुरू हुई और धीरे-धीरे यह दोनों एक दूसरे के दुश्मन बन गए। अब आलम यह है कि डेविड धवन और गोविंदा एक दूसरे की शक्ल देखना भी पसंद नहीं करते। वही डेविड भी गोविंदा को अपनी फिल्मों में काम नहीं देते।

खुद में नहीं किया बदलाव

कहा जाता है कि, गोविंदा ने समय के अनुसार कभी भी अपने किरदारों में बदलाव नहीं किया। साल 2007 में रिलीज हुई फिल्म ‘पार्टनर’ के जरिए गोविंदा ने एक बार फिर अपना सिक्का जमा लिया था लेकिन बदलते समय के अनुसार वह अपने किरदारों में नहीं ढले। दरअसल हर फिल्म में गोविंदा बतौर हीरो दिखना चाहते थे। ऐसे में ये उनके करियर की एक बड़ी गलती मानी जाती है।

राजनीति में एंट्री

फिल्मों में सफलता पाने के बाद गोविंदा ने साल 2004 में लोकसभा चुनाव लड़ा जिसमें वह बीजेपी के एक बड़े लीडर को हराने में कामयाब रहे। हालांकि गोविंदा राजनीति की दुनिया में कुछ खास कमाल नहीं कर पाए और फिर उन्होंने इससे किनारा कर लिया। कहा जाता है कि गोविंदा को राजनीति में आने का दुख है क्योंकि वह मानते हैं कि अगर राजनीति में नहीं जाते तो आज भी वह बॉलीवुड इंडस्ट्री के सुपरस्टार होते।

बता दें, 21 दिसंबर 1963 को जन्मे गोविंदा ने 1986 में आई फिल्म ‘इल्जाम’ से अपने करियर की शुरुआत की थी। एक इंटरव्यू के दौरान बात करते हुए गोविंदा ने कहा था कि, “फिल्म इंडस्ट्री में जलन के चलते मेरे बारे में अक्सर लोग गलत अफवाहें उड़ाया करते हैं। खैर, समय सबका खराब होता है और मेरा भा हुआ। तारीफ का शिकार हो गया मैं। मेरे अच्छे काम, डांस और लुक की तारीफ के कारण मुझे इंडस्ट्री से आउट कर दिया गया।”

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.