20 साल की लड़की फोटो दिखा कर मंडप पर बिठा थी 45 साल की औरत, देखते ही दुल्हा मंडप से भागा - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ताज़ा खबरें / 20 साल की लड़की फोटो दिखा कर मंडप पर बिठा थी 45 साल की औरत, देखते ही दुल्हा मंडप से भागा

20 साल की लड़की फोटो दिखा कर मंडप पर बिठा थी 45 साल की औरत, देखते ही दुल्हा मंडप से भागा

मित्रों वैसे तो इस दुनिया में कई ऐसी अजीबो गरीब बाते होती रहती है, जो हम लोगों को आये दिने सोशल मीडिया के माध्‍यम से सुनने को मिलती रहती है। इसी क्रम में आज हम एक ऐसी घटना से अवगत कराने वाले है, जिसे सुनकर आप लोग भी यह सोचने पर मजबूर हो जायेगें कि शादी जैसे महत्वपूर्ण फैसले में हमें भी सावधान रहना जरूरी है। आपको बता दें कि अक्सर देखा जाता रहा है कि शादियों के दौरान किसी न किसी वजह से कई बरातें वापस लौट गई है। कुछ ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के इटावा जिले का है। जहां पर एक दुल्हा, दुल्हन को देखते ही मंडप से भाग गया। आइए जाने आखिर क्या था इसका कारण।

This image has an empty alt attribute; its file name is article-image-1024x767.jpg

आपको बता दें कि यह मामला इटावा सिविल लाइन थाना क्षेत्र के विजयपुरा गांव का है। जहां पर युवक शत्रुघ्न सिंह  को दलालों द्वारा एक 20 वर्षीय लड़की की तस्वीर दिखाई गई और उसी के दम पर 35 हजार रुपए भी एडवांस में ले लिए गए।  पर शादी वाले दिन युवक जब मंदिर पहुंचा तो उसे पता चला कि उसकी शादी एक 45 वर्षीय महिला से की जा रही है। वो महिला दो बच्चों की मां बताई गई है। शत्रुघ्न सिंह को अपने साथ हुए धोखे का जब ऐसास हुआ तो उसने शादी करने से इनकार कर दिया। वो अपनी मां के साथ पुलिस स्टेशन जाने की बात कहने लगा। लेकिन स्थिति को बेकाबू होता देख वहां खड़े दलाल भड़क गए और शत्रुघ्न व उसके परिवार को डराना-धमकाना शुरू कर दिया। लेकिन किसी तरह शत्रुघ्न जान बचाकर पुलिस स्टेशन पहुंचा और उसने अपने साथ हुए धोखे के बारे में विस्तार से बताया। शत्रुघ्न ने पुलिस को बताया कि गांव के दो दलालों ने मेरे 35 हजार रुपए ठग लिए और शादी करने के लिए मुझे नीलकंठ मंदिर पर एक लड़की दिखा दी, जिसकी उम्र 20 वर्ष थी।

This image has an empty alt attribute; its file name is bride-650_020721105230.jpg

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि उपरोक्त घटना के संबंध में शत्रुघ्न सिंह ने आगे बताता कि “मैंने उस लड़की के हाथ में एक हजार रुपए नगद और एक मिठाई का डिब्बा शगुन के तौर पर दिए थे। उसके साथ उसकी मौसी आई थीं। शादी पक्की हो गई थी। बातचीत भी कर ली गई थी। शुक्रवार को काली वाहन मंदिर पर शादी के लिए बुलाया और जैसे ही भांवरें पड़ने वाली रस्म होनी थी, मेरी मां ने देखा कि वो लड़की नहीं थी, उस महिला के आगे मैं उसका बच्चा लग रहा था। दूल्हे की मां इंदिरा देवी ने कहा कि ठगों ने जबरदस्ती मेरे बेटे की शादी एक उम्र दराज दो बच्चों की मां से करने की कोशिश की थी। जब हमने मना कर दिया तो ये ठग लाठी-डंडों से हमें जान से मारने की धमकी देने लगे और हमला करने लगे। अब इस पूरे मामले को देखते हुए इटावा के एसपी सिटी कपिल देव सिंह ने बताया कि इस मामले में पीड़ित पक्ष की तहरीर प्राप्त हुई है। पुलिस ने तहरीर के बाद जांच शुरू कर दी है। जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियाये है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.