अनाथ लड़की ने कभी बाँधी थी राखी, दरोगा ने इस तरह निभाया भाई होने का फ़र्ज़ - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / ताज़ा खबरें / अनाथ लड़की ने कभी बाँधी थी राखी, दरोगा ने इस तरह निभाया भाई होने का फ़र्ज़

अनाथ लड़की ने कभी बाँधी थी राखी, दरोगा ने इस तरह निभाया भाई होने का फ़र्ज़

मित्रो हमारी इस दुनिया में कई ऐसे लोग है जो कुछ ऐसा कर देते है की उसे सोचने मात्र से घुस्सा आ जाता है, पर कुछ ऐसे भी लोगा है, जो अच्छे कार्यो की वजह से दूसरे के लिये एक सीख बन जाते है। आज हम एक ऐसी घटना के संबंध में बताने वाले है जिसमें एक अनाथ बेटी ने पुलिस वाले को कभी बांधी थी राखी, पुलिस वाले ने कुछ इस तरह निभाया राखी का फ़र्ज़। जिसे सुन आप लोग भी कहेगें वाह क्या बात है।

दरअसल यहां हम आपको जिस ख़बर के बारे में बताने जा रहे है। वह खबर पुलिस को लेकर आपके नज़रिए को पूरी तरह से बदल देगी। जी हां हम आपको पुलिस के एक ऐसे चेहरे से रूबरू करवाने जा रहें है। जिसने समाज को अनूठा सन्देश दिया है। आपको पता भी होगा कि हमारे देश में पुलिस को नागरिको का रक्षक कहा जाता है और फिर पुलिस का यह फर्ज होता है कि वे हर नागरिक को संकट से बहार निकाले और निष्पक्ष भाव से उसकी मदद करें। लेकिन पुलिस वाला हनुमंत तिवारी केवल जनता के रक्षक ही नहीं बल्कि हनुमंत बेसहारा लोगों का सहारा भी बन गए हैं। आपको ये नहीं पता होगा कि हनुमंत लाल तिवारी उस समय चर्चा में आए जब इस पुलिस वाले ने अपनी मुँह बोली बहन कि शादी बहुत ही धूम धाम से की।

ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के लखीमपुर कस्बा के सिकन्द्राबाद का है। इसी इलाके के निवासी विचल त्रिवेदी की पिछले वर्ष मौत हो गई। जिसके चलते उनका परिवार बिखर गया था। लेकिन इतना ही नहीं इस बिखरते परिवार को सहारा मिला उस इलाके की कस्बे की पुलिस चौकी पर तैनात प्रभारी हनुमंत लाल तिवारी का। उन्होंने विचल त्रिवेदी की बेटी को अपनी बहन माना और उससे राखी बंधवा ली। थाना प्रभारी हनुमंत ने जब उसे बहन माना तो साथ ही साथ उसके विवाह की जिम्मेदारी भी ले ली।


आपकी जानकारी के लिये बता दें कि हनुमंत लाल तिवारी मझगई चौकी के थाना प्रभारी हो गए पर इसके बावजूद वह अपनी जिम्मेदारी नहीं भूले। उन्होंने परिवार के लोगों की सहमति से दिवंगत विचल त्रिवेदी की बेटी अनीता का विवाह बड़े ही धूमधाम से करवाया। दिवंगत की पत्नी कमलेश त्रिवेदी के अनुसार हनुमंत लाल तिवारी ने उनके परिवार के प्रति एक बेटे का हर फर्ज निभाया है। हनुमंत अनीता के तिलक में भी गए थे। विवाह का सारा खर्च थाना प्रभारी हनुमंत ने ही उठाया। इसके अलावा वह अनीता की शादी में एक भाई की तरह अतिथियों के स्वागत के लिए दरवाजे पर खड़े रहे। वहीं हनुमंत लाल तिवारी के अनुसार दिवंगत विचल का परिवार बेहद गरीब है। वह अपनी मौत के बाद पीछे पत्नी सहित तीन बेटियां तथा एक बेटे को छोड़ गए हैं। बेटा अभी इतना छोटा है कि घर की जिम्मेदारी नहीं उठा सकता। थाना प्रभारी हनुमंत कहते हैं कि वह कहीं भी रहें, उस परिवार की हर संभव मदद करते रहेंगे।

अपने सामाजिक कार्यों से सुर्खियों में बनें रहते हैं तिवारी… आपको ये जानकारी नहीं होगी कि हनुमंत लाल तिवारी अपने अच्छे कार्यों की वजह से हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। आये दिन उनके कार्यो की सरहाना सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी रहती है। अभी हाल ही में हनुमंत ने कई दिनों जंगल के किनारे भटक रही एक वृद्ध महिला को उसके परिवार से मिलवाया है। ये कार्य भी उनका बहुत ज्यादा ही सराहा जा रहा है। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्टं न्यूुज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.