जिस बच्चे ने 10वीं क्लास में ही KBCमें जीते 1 करोड़ रुपये,आज वही बच्चा है IPS अफसर है… - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / वायरल / जिस बच्चे ने 10वीं क्लास में ही KBCमें जीते 1 करोड़ रुपये,आज वही बच्चा है IPS अफसर है…

जिस बच्चे ने 10वीं क्लास में ही KBCमें जीते 1 करोड़ रुपये,आज वही बच्चा है IPS अफसर है…

मित्रों वैसे तो बॉलीवुड फिल्‍मों के साथ साथ छोटे पर्दो पर भी कई ऐसे धारावाहिको ने दर्शकों के दिल में एक अलग ही जगह बना ली है, हालाकि मनोरंजन की दुनिया में नाम कमाना इतना आसान नही है, कभी कभी तो कुछ लोग इसके लिये बहुत प्रयास करते है, उसके पश्‍चात भी सफलता हाथ नही लगती है। यहाँ मेहनत के साथ किस्मत का भी बड़ा रोल होता हैं। इसी क्रम में आज हम सबसे प्रचलित शो KBC के एक ऐसे विजेता के संबंध में बताने वाले है जो कभी 10वीं में पढ़ते हुए KBC में 1 करोड़ का विजेता रहा पर आज यह बच्चा IPS अफसर है। खबर विस्तार से जानने के लिये इस पोस्ट के अंत तक बने रहे।

दरअसल आज हम जिस शख्स के संबंध में बात कर रहे है उनका नाम रवि मोहन सैनी है, जिनका नाम आज एक मिसाल है। आज गुजरात के बड़े बड़े बदमाश भी इनका नाम सुनकर कांप जाते है। मुख्य रूप से राजस्थान के अलवर जिले के रहने वाले रवि मोहन सैनी एक आईपीएस अधिकारी है, और गुजरात के पोरबंदर में पुलिस अधीक्षक के रूप में कार्यरत हैं। रवि मोहन सैनी का परिचय यही पूरा नहीं हो जाता। IPS रवि मोहन सैनी पहले भी सफल हो चुके है। रवि मोहन सैनी के पिता नौसेना के रिटायर्ड अफसर हैं। पिता की पोस्टिंग की वजह से उनकी स्कूली पढ़ाई आंध्र प्रदेश के विशाखापटनम स्थित नौसेना पब्लिक स्कूल से हुई है। साल 2001 में रवि मोहन सैनी ने 1 करोड़ रुपए ‘कौन बनेगा करोड़पति जूनियर’ में जीते थे, जो उस वक़्त केवल 14 साल के थे।

आपकी जानकारी के लिये बता दें जिस समय रवि मोहन सैनी ने 1 करोड़ रूपये KBC से जीते थे उस समय ये 10वीं क्लास में पढ़ रहे थे और अमिताभ बच्चन द्वारा पूछे गए सभी 15 सवालों के सही जवाब दिए थे। वर्ष 2001 से 2004 के बीच बच्चों को इस शो में आने का मौका दिया गया, जब चैनल ने कौन बनेगा करोड़पति जूनियर शूरू किया था। रवि मोहन एकेडमिक करियर में Topper रहे हैं। 12वीं के बाद रवि मोहन सैनी ने जयपुर के महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लिया और एमबीबीएस किया। MBBS के बाद इंटर्नशिप के वक़्त सिविल सर्विस की परीक्षा भी दी थी और इनका चयन सिविल सर्विस में हो गया। रवि मोहन सैनी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके पिता नेवी में थे और उनसे प्रभावित होकर ही उन्होंने आईपीएस चुना। रवि मोहन सैनी साल 2012 में पहली बार यूपीएससी की परीक्षा में शामिल हुए थे और प्री परीक्षा को पास करने में सफल रहे। फिर मेंस परीक्षा को पास नहीं कर पाए थे। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published.