शाहरुख खान के बेटे को गिरफ्तार करना समीर वानखेड़े को पड़ा भारी, NCB डायरेक्टर पद से हुई छुट्टी - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / बॉलीवुड / शाहरुख खान के बेटे को गिरफ्तार करना समीर वानखेड़े को पड़ा भारी, NCB डायरेक्टर पद से हुई छुट्टी

शाहरुख खान के बेटे को गिरफ्तार करना समीर वानखेड़े को पड़ा भारी, NCB डायरेक्टर पद से हुई छुट्टी

कुछ समय पहले ही शाहरुख के बेटे आर्यन के केस को लेकर

NCB अधिकारी समीर वानखेड़े ने जबसे शाहरुख के बेटे आर्यन के केस में हस्तक्षेप किया है तभी से वो चर्चा का विषय बन गए है अब आर्यां खान तो जेल से बाहर आ चुके है लेकिन समीर वानखेड़े की मुश्किलें बढ़ चुकी है ! बता दें कि कुछ समय पहले मुंबई में एक क्रू पर रेव पार्टी के दौरान समीर वानखेड़े ने ही शाहरुख़ के बेटे को गिरफ्त में लिया था ! उन पर आरोप था की इस पार्टी में वो सरेआम ड रग्स का सेवन कर रहे थे और समीर वानखेड़े ने आर्यन और उनके साथियो को रंगे हाथो पकड़ किया ! आर्यन को पकड़ते ही समीर वानखेड़े सोशल मिडिया पर रातो रात स्टार बन गए हर कोई उनकी तारीफ़ करने लगा और उन्हें असली ज़िन्दगी का सिंघम तक कहने लगा !

आर्यन की गिरफ्तारी के बार जैसे-जैसे इस मामलें की जांच हुई. वैसे-वैसे कई खुलासे सामने आए. जिसमें सबसे अहम बात ये निकलकर आई थी. गिरफ्तारी के दौरान आर्यन ने किसी भी गलत दवाई का सेवन नहीं किया और न ही उनके पास से कुछ भी प्रतिबंधित चीज बरामद हुई थी. जांच में ये बात जरुर सामने आई थी कि आर्यन खान अपने व्हाट्सएप के जरिए लगातार इन प्रतिबंधित चीजों को लेकर लगातार बात करते रहते थे.

इस केस में टर्निंग पॉइंट तब सामने आया था. जब एक चश्मदीद गवाह ने ये कहकर सनसनी फैला दी थी. समीर ने आर्यन को छोड़ने के लिए शाहरुख़ खान से रिश्वत मांगी थी. इस घटना के बाद से समीर महाराष्ट्र के राज्य मंत्री नवाब मालिक के निशाने पर गए थे. रिश्वत का आरोप लगने के बाद आलावा समीर पर फर्जी प्रमाणपत्र बनाने का भी गंभीर आरोप लगाया गया और उन्हें आर्यन केस से भी हटा दिया.

इन सब के बीच अब खबर ये सामने आई हैं. समीर खान को अब एनसीबी जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया हैं.

सोमवार को खबर सामने आई थी कि भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी समीर वानखेड़े को केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो से ड्यूटी से हटा दिया गया है. आर्यन खान मामले में उनके नेतृत्व वाले एक गवाह पर जबरन वसूली का आरोप लगाया गया था और राज्य के मंत्री नवाब मलिक ने आरोप लगाया था कि आईआरएस अधिकारी ने उनके जाति प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया था. वानखेड़े को नई दिल्ली में राजस्व खुफिया निदेशालय के महानिदेशक को रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया है.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *