50-100 रूपये की वसूली के लिए दरोगा जी ने रोकी SP साहब की बाइक,और फिर जो हुआ - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / वायरल / 50-100 रूपये की वसूली के लिए दरोगा जी ने रोकी SP साहब की बाइक,और फिर जो हुआ

50-100 रूपये की वसूली के लिए दरोगा जी ने रोकी SP साहब की बाइक,और फिर जो हुआ

मित्रों इस दुनिया में ऐसे तो बहुत सी ऐसी अजीबो गरीब घटनाये होती रहती है, जो सुनने के पश्‍चात थोड़ा अजीब लगती होगी। हालही में एक ऐसी घटना सामने आयी है, जिसने 2003 में आयी फिल्म गंगाजल की एक सीन की याद दिला दी। क्योंकि उस सीन में अजय देवगन ने एक दमदार पुलिस अफसर का अभिनय बखूबी निभाया था। उन्होंने इस दौरान न्याय की खातिर अपने ही दरोगा को ही सस्पेंड कर दिया था।  ठीक इसी तरह रियल लाइफ में बिहार शेखपुरा जिले में देखने को मिला है। जहां दरोगा वसूली में इतना मस्त था कि उसने अपने ही एसपी की बाइक को रोक कर वसूली करने लगा। जिस पर SP ने उसे इस हरकत के लिये तत्काल सस्पेंड कर दिया। खबर विस्तार से जानने के लिये पोस्ट के अंत तक बने रहे। वीडियो बनाते हुए पुलिस ने उर्फी जावेद को पकड़ा रंगे हाथ, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो..

दरअसल बिहार के शेखपुरा जिले में फिल्म ‘गंगाजल’ का दारोगा मंगनी राम वाला सीन सच में साकार हो गया। यहां एक सहायक अवर निरीक्षक ने अपने ही जिले के एसपी को नजराना लेने के लिए रोक दिया। बताया जा रहा है कि यह एएसआइ रास्ते से गुजरने वाली हर गाड़ी से नजराना लेता था। यहां तक कि बाइक और स्कूटर वालों से भी बिना 50-100 रुपए लिये आगे नहीं जाने देता था। इसकी शिकायत पर एसपी कार्तिकेय के शर्मा स्वयं ही जांच के लिए पहुंचे तो एएसआइ ने उनको भी उसी अंदाज में रोक दिया, जैसे वह आम लोगों के साथ किया करता था। शेखपुरा में वाहनों से अवैध वसूली करने में जुटा पुलिस का सहायक अवर निरीक्षक अपने बॉस यानी एसपी पर भी हाथ डालने से परहेज नहीं कर पाया। इसका परिणाम यह हुआ कि वसूली करने वाले साहब मौके पर ही निलंबित कर दिये गए और इनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी शुरू कर दी गई हैं।40 साल में भी ये पुलिस वाली एक्ट्रेस लग रही है कातिल, देखे तस्वीरे…

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि एसपी कार्तिकेय के शर्मा ने इस कार्यवाही की जानकारी देते हुए बताया कि कसार थाने में प्रतिनियुक्त सहायक अवर निरीक्षक रणवीर प्रसाद को वाहनों से अवैध वसूली के मामले में निलंबित कर दिया गया है। उनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी शुरू की जा रही है। एसपी ने बताया कि चांदी पहाड़ से पत्थर और डस्ट लेकर निकलने वाले वाहनों से यह कनीय पुलिस अफसर अवैध वसूली करता था। रणवीर प्रसाद के बारे में लोग बताते हैं रास्ते में बाइक से आने-जाने वालों को भी पुलिस का रौब दिखाकर 100-50 झटक लेते थे। इस रिश्वतखोर पुलिस अफसर को पकडऩे के लिए शनिवार की अलसुबह एसपी कार्तिकेय के शर्मा स्वयं बिना वर्दी के आम नागरिक की तरह बाइक चलाकर मौके पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि रुपये वसूलने में मशगूल इस सहायक अवर निरीक्षक ने एसपी को भी हाथ देकर रोक दिया। बाइक पर बैठे एसपी को रोकने के बाद एएसआइ उनके नजदीक पहुंचा तो बड़े अफसर को पहचानते ही उसके होश उड़ गए।हालांकि तब तक एसपी उसकी सारी करतूत को अपनी आंखों से देख चुके थे। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *