जेल में सज़ा काटते हुए लड़के ने पास किया IIT एंट्रेंस एग्जाम,देश में 54वां रैंक हासिल कर रहा मास्टर की तैयारी - onlyentertainmentnews
Breaking News
Home / विशेष / जेल में सज़ा काटते हुए लड़के ने पास किया IIT एंट्रेंस एग्जाम,देश में 54वां रैंक हासिल कर रहा मास्टर की तैयारी

जेल में सज़ा काटते हुए लड़के ने पास किया IIT एंट्रेंस एग्जाम,देश में 54वां रैंक हासिल कर रहा मास्टर की तैयारी

मित्रों हमारे इस जीवन में शिक्षा का बहुत अधिक महत्व है क्योंकि शिक्षा ही एक ऐसा पथ है जो कि मानव को दनाव बनने से बचाने सहायक है। अगर आज के समय में शिक्षा का अभाव रहा तो आगे का जीवन बहुत ही कष्टमई तरीके से विताना पड़ता है। हालाकि समय समय पर शिक्षा को लेकर कई लोगों ने एक ऐसी मिसाल पेश की है जो कि प्रंशसनीय है। आज भी एक ऐसे ही शख्स के संबंध में बात करने वाले है जिन्होंने जेल में रहकर IIT एंट्रेस एग्जाम में सफलता पायी और देशभर में 54वीं रैंक प्राप्त कर ली। ऐसे में ये कहना गलत न होगा कि अगर इंसान का हौसला बुलंद हो तो कुछ भी असंभव नहीं। आइए इस शख्स की प्रेरणादायक कहानी से आप लोगों को अवगत कराते हैविज्ञान में टॉपर महिला करती थी सफाईकर्मी का काम, मेहनत और लगन से बनी कीट वैज्ञानिक

दरअसल आज जिस शख्स की बात की जा रही है उसका नाम सूरज है। जिन्होंने जेल में रहते हुये IIT में एडमिशन के लिए होने वाली ज्वाइंट एडमिशन टेस्ट फॉर मास्टर्स की परीक्षा में कामयाबी पाई है। बीते सप्ताह जारी परिणाम में सूरज को देश भर में 54वां रैंक प्राप्त हुआ है। अब सूरज IIT रूड़की में दाखिला लेकर मास्टर डिग्री कंप्लीट करेगा। परिजनों ने बताया कि उसकी इस कामयाबी में तत्कालीन मंडल काराधीक्षक अभिषेक कुमार पांडेय की भरपूर सहयोग दिया है। जेल के अंदर ही काराधीक्षक ने सूरज को परीक्षा के लिए किताबें और नोट्स समेत जरूरी मैटेरियल उपलब्ध करा दिए। इसी के चलते सूरज के बुलंद हौसले को नये पंख लग गये और जेल में रहते हुए ही तैयारी कर उसने एक नई उपलब्धि कायम की है। सूरज ने जेल से पेरोल पर जाकर 13 फरवरी को एग्जाम दिया था।जिसे सब समझ रहे गाँव की गंवार, वो निकली IPS ऑफिसर

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि सूरज कुमार उर्फ कौशलेंद्र कुमार वारिसलीगंज के मोसमा गांव के हैं। पिता का नाम अर्जुन यादव का है। सूरज आईआईटी एंट्रेंस एग्जाम जेईई की परीक्षा के लिए एक वर्ष तक कोटा में रहकर तैयारी की। इसी दौरान गांव में नाली विवाद के मारपीट में एक व्यक्ति की मौत के मामले में सूरज को नामजद बना दिया गया फिर प्रशासन ने 19 अप्रैल 2021 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। जेल आने पर सूरज पूरी तरह टूट चुके थे। लेकिन इसी बीच उसे काराधीक्षक अभिषेक का जेल के अंदर मोटिवेशनल स्पीच सुनने व क्रिएटिविटी देखने का मौका मिला और इस बात से प्रभावित होकर सूरज उनसे मिला और उन्होंने उसकी हरसंभव सहयोग की। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्या प्रतिक्रियायें है। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About Rinku

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *